हम दुनिया को डरावनी जगह क्यों मानते हैं?

वक्ता: सवाल ये है, ‘हमारी नज़र हमेशा बुरे को क्यों तलाशती है? अच्छे को नज़र क्यों नहीं तलाशती?’ तुम सोचो कि क्या कारण होते होंगे

विकसित होना क्या है ?

विकास का तो अर्थ ही यही है कि मैं ये सौदा नहीं करूँगा। इसी सौदे के न होने का नाम है, विकसित होना। समझ रहे हो? विकसित होने का अर्थ है अपनी निजता को पा लेना, अपने आप को पा लेना।

न सामाजिक न पशु

जानते हो हिंदी में पशु को क्या कहा जाता है ? पशु l धातु है पाश और पाश का मतलब है बंधन l जो भी गुलाम है वही पशु है l “मनुष्य एक सामाजिक पशु है” कहने का अर्थ ये हुआ कि मनुष्य को पाश में – दासता में- अनिवार्यतः रहना ही होगा, कि दासता मनुष्य का प्रारब्ध है l

1 5 6 7