निर्णयों के लिए दूसरों पर निर्भर क्यों?

श्रोता: सवाल है कि ‘क्यों हम अपने निर्णय स्वयं नहीं ले पाते और इस कारण दूसरों पर आश्रित रहते हैं?’ वक्ता: कितने लोग ऐसे हैं जिनकी यही

शरीर यन्त्र है, तुम नहीं

क्या तुम्हारे साथ ऐसा नहीं होता कि सिर दर्द हो रहा है पर तुम कहो कि सिर को दर्द होने दो, हम नहीं रुकेंगे? शरीर को मशीन की भाँति लगे रहने दो। तुम मशीन मत बन जाना।

1 7 8 9