मैं डरता क्यों हूँ?

वक्ता : हम में से कितने लोग हैं जो कभी-कभी या अक्सर डर का अनुभव करते हैं? कृपया अपने हाथ उठायें ! (करीब-करीब सभी अपने

रात गयी बात गयी

रात गयी, बात गयी l वो बीत गया- अब उसका सवाल क्यों पूछना ?
ये बीमारी तुम सब के साथ है, एक की ही नहीं है l तुम अतीत के साथ अभी भी चिपके हुए हो l सपना था, बीत गया, सपने में कर दिया किसी का क़त्ल, अब क्यों प्रायश्चित कर रहे हो ?

अमीर कौन, ग़रीब कौन?

जिसको और चाहिए – वो गरीब है। जिसे और नहीं चाहिए- वो अमीर है। जिसे ही और चाहिए, बात सीधी है, जो भी कह रहा है कि और मिल जाए, इसका मतलब है कि वो गरीबी अनुभव कर रहा है। तभी तो वो कह रहा है कि और चाहिए। तो गरीब वो नहीं जिसके पास कम है, गरीब वो जिसे अभी और चाहिए।

गया न मन का फेर

प्रश्न: सर, जो दुखी है क्या वो भी इगोइस्ट है? वक्ता: पीड़ित होने में बड़े मज़े हैं। अगर तुम पीड़ित हो तो तुम्हें हक मिल

1 15 16 17