डर आता है क्योंकि तुम उसे बुलाते हो

वक्ता: डर कैसे निकाल सकते हैं? कितने लोगों के लिए डर का सवाल महत्वपूर्ण है, कि डर है जीवन में? (कई श्रोतागण हाथ उठाते हैं) तो सिर्फ

अज्ञात उतरता है निर्विकल्पता में

जीवन में कुछ भी हो पहले से तय है, वो सिर्फ एक सिद्धांत है, मूल्य है जो किसी और ने थमा दी है, उसका कोई महत्त्व नहीं| महत्त्व तो उसका होता है जो नवीन है, जो तय नहीं|

1 2 3 4