हम कैसी शिक्षा दे रहे हैं?

वक्ता: मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहता हूँ कि क्या हम शिक्षण संस्थान में मेरिट-लिस्ट तैयार नहीं करते? हम क्या वाकई छात्र को ये नहीं

जवानी अकेले दहाड़ती है शेर की तरह

वक्ता : मुझे बड़ी ख़ुशी होती इस सवाल का कोई सकरात्मक जवाब देकर । सवाल तुमने इस तरीके से पूछा है कि लगता है, “लक्ष्य ‘मेरे’

अमीर कौन, ग़रीब कौन?

जिसको और चाहिए – वो गरीब है। जिसे और नहीं चाहिए- वो अमीर है। जिसे ही और चाहिए, बात सीधी है, जो भी कह रहा है कि और मिल जाए, इसका मतलब है कि वो गरीबी अनुभव कर रहा है। तभी तो वो कह रहा है कि और चाहिए। तो गरीब वो नहीं जिसके पास कम है, गरीब वो जिसे अभी और चाहिए।

1 11 12 13