सात्विक जीवनशैली

मन ऐसा रखो जिसमें लालसा ही न उठे।

ज़िन्दगी ठीक रखनी पड़ती है,

इसीलिए सात्विक जीवनशैली बहुत ज़रूरी है।

सात्विक जीवनशैली वही होती है जिससे विचार अपनेआप शाँत रहते हैं।

तुम जितना गन्दा खाना खाओगे, तुम जितने गन्दे तरीकों की बात सुनोगे, दृश्य देखोगे, साहित्य पढ़ोगे,

उतना तुम्हारे मन में कुत्सित विचार उठेंगे।

Leave a Reply