विज्ञान

  • वैज्ञानिक से विज्ञान सीखो। व्यापारी से व्यापार सीखो। पर जीवन या तो जीवन से सीखो या गुरु से।”

 

——————————————————

उपरोक्त सूक्तियाँ श्री प्रशांत के लेखों और वार्ताओं से उद्धृत हैं

Leave a Reply