अंतर

  • तलाश सबको एक ही है। पर तलाशी के तलों में आकाश-पाताल का अंतर है।”

 

  • साधु वही जिसको यह भेद करना आता है कि क्या केन्द्रीय है और क्या केन्द्रीय नहीं है।”

 

——————————————————

उपरोक्त सूक्तियाँ आचार्य प्रशांत के लेखों और वार्ताओं से उद्धृत हैं

Leave a Reply